13.4 C
Dehradun
Tuesday, November 29, 2022
HomeSocial Heroesइस युवक के हैं 150 माता-पिता! बेघर बुज़ुर्गों को घर लाकर दिया...

इस युवक के हैं 150 माता-पिता! बेघर बुज़ुर्गों को घर लाकर दिया सम्मान

कुछ लोगों में समाज सेवा का एक अच्छा गुण होता है। लेकिन हर एक को इस आदत को अपनाना चाहिए। एक सामाजिक सेवक का हर जगह स्वागत किया जाता है। क्योंकि वह समाज का सबसे उपयोगी सदस्य है। वह अपने समाज के प्रति अपना कर्तव्य जानता है।

मनुष्य समाज में रहता है। वह अपने समाज में ही सब कुछ सीखता है। वह समाज में काम करता है और आगे बढ़ता है। वह समाज में अपनी आजीविका कमाता है। समाज उसके जीवन और संपत्ति को संरक्षण देता है। इसलिए, हर किसी को अपनी क्षमता के अनुसार समाज की सेवा करनी चाहिए। आज हम आपको एक ऐसे ही समाज सेवक के बारे में बताएंगे जिन्होंने बेघर बुजुर्गों को अपने घर लाकर उनकी सेवा कर रहे हैं। आइये जानते है उनके बारे में।

जैसपर पॉल का परिचय।

Image/ Better India

जैसपर पॉल हैदराबाद के रहने वाले हैं। उन्होंने इंजीनियरिंग से ग्रैजुएट किया है। वह आज उन लोगों के लिए काम कर रहे हैं जो लोग सड़कों पर बेसहारा नज़र आते हैं. इन्हीं लोगों के लिए जैसपर पॉल ने आश्रय-गृह बनाया है। हालांकि एक समय था, जब उन्हें भी मालूम नहीं था कि, आखिर ये सब वो कैसे कर सकेंगे। लेकिन आज अपने नेक इरादों के चलते जैसपर लोगों की मदद कर रहे हैं। साथ ही करोड़ों रुपए की फंडिंग भी प्राप्त कर रहे हैं।जिससे उन बेसहारा लोगों की देखभाल हो सके। जिसके लिए उन्होंने एक संगठन बनाया है जिसका नाम ‘सेकंड चांस’ है।

कुछ इस तरह नेक काम करने का ख्याल आया।

जैसपर ने अपने संगठन की शुरुवात साल 2014 में की। जिस समय वह एक सड़क हादसे का शिकार हुए। उस समय उनकी उम्र लगभग 19 साल थी। हादसा इतना भीषण था कि, सड़क पर पलटी गाड़ी ने कई बार पलटी खाया। लेकिन फिर भी वह बाल-बाल बच गए और यही जिंदगी उन्हें ‘सेकंड चांस’ शुरुआत करने की प्रेरणा दी
यही से जैसपर की जिंदगी में बदलाव आया । उन्होंने सोच लिया की वह अब अपने ज़िंदगी में कुछ अच्छा करेंगे।

अन्य संगठनों के साथ काम किया।

Image/ Better India

बेसहारा लोगों की सहायता के लिए पॉल तीन सालों तक शहर के अन्य शेल्टर होम्स् और सामाजिक संगठनों के साथ काम करते रहे। ऐसे में उन्होंने 2017 में ‘सेकंड चांस” नामक शेल्टर होम की शुरुआत की। जल्द ही पॉल को काफी लोगों का साथ मिलने लगा बल्कि वर्तमान में करोड़ों रुपये की फंडिंग भी लोगों द्वारा की जा रही है।

लगातार कर रहे है बेसहारा लोगों की मदद।

Image/ Better India

एक बार सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर जाते हुए उनकी नज़र अचानक ही फुटपाथ पर लेटी एक वृद्ध व चोटिल महिला पर पड़ी। वह महिला इतनी अशक्त थी कि अपने घावों पर आ रही मक्खियों को भी नही हटा पा रही थी। ऐसे में उन्होंने एक पुलिस कॉंस्टेबल की मदद से महिला को अस्पताल पहुंचाया। महिला के ठीक होने के बाद उन्हे एक शेल्टर होम में भर्ती करवाया और उनका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया। जिसका रिज़ल्ट ये रहा कि महिला के परिवार वाले हैदराबाद आकर उन्हें ले गए।

सेकंड चांस में हर तरह की सुविधाएं।

Image/ Better India

सेकंड चांस में बीमार आश्रितों की देखभाल के लिये 6 डॉक्टरों की टीम भी रखी गई है। उनके पास इस तरह के घायल लोग आते हैं जिनके घावों में कीड़े लगे हुए होते हैं बदबू आ रही होती है। पर वह कभी किसी से मुँह नहीं फेरते, बल्कि उनके घावों को खुद साफ़ करके उनकी पट्टी करते हैं । किसी बेसहारा व्यक्ति के मिलने पर आप इन्हें कॉल कर सकते हैं। उनकी टीम पूरी तरह से हैदराबाद पुलिस और अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं के संपर्क में भी रहते हैं। वर्तमान में हैदराबाद में उन्होंने किराये पर लिये हुए तीन केंद्र हैं। सबसे पहले अस्वस्थ व ज़रुरतमंद वृद्ध को रेस्क्यू करके यापरल स्थित पहले केंद्र पर ले जाया जाता है, जहाँ पर उन्हें सबसे पहले आवश्यक चिकित्सा दी जाती है। वर्तमान में सेकंड चांस 20 लोगों के साथ मिलकर काम कर रही है।

लोगों के ठीक होने पर उन्हें काम से जोड़ते है।

पॉल अपने सेंटर पर रहने वाले लोगों की काउंसलिंग पर भी ध्यान देते हैं ताकि ये लोग अपने निराशा भरे जीवन से ऊपर उठकर एक नई शुरुआत करें। केंद्रों पर रहने वाले जो लोग धीरे-धीरे ठीक होने लगते हैं, उन्हें दैनिक गतिविधियों जैसे- सब्जी काटने में मदद करना, बागवानी करना आदि में लगाया जाता है।हैदराबाद निवासी होने के चलते और किसी बसहारा को देखने की अवस्था में आप पॉल द्वारा दिये गये इस नंबर पर 080108 10850 पर कॉल कर सकते हैं। पॉल व उनकी टीम को वहाँ पहुंचकर उनकी मदद करेंगे।

Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।
RELATED ARTICLES

230 COMMENTS

  1. “Make use of your fingers, your mouth — use your imagination. In compensation divers men with erectile dysfunction, a common built of masturbation may be easier and more pleasurable than traditional lustful intercourse.” Discover the proper improper and time. “Elect a obligation and chance to bear lovemaking where you can determine free and unhurried. Source: buy cialis

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

JoshuaAgige on How Do Hookup Sites Work?
JoshuaAgige on Using CBD Efficiently
JoshuaAgige on Hookup Now Get Hooked Up
JoshuaAgige on Malware Software Weblog
JoshuaAgige on Hello world
JoshuaAgige on Hello world
JoshuaAgige on VDR Information Security
JoshuaAgige on Types of Connections
JoshuaAgige on A Tech Antivirus Review
JoshuaAgige on Promoting Insights
JoshuaAgige on Firmex VDR Update