25.4 C
Dehradun
Wednesday, June 29, 2022
HomeInspirationनारियल तेल की फैक्ट्री में फेंके जाते थे खोल, उन्हीं से बर्तन...

नारियल तेल की फैक्ट्री में फेंके जाते थे खोल, उन्हीं से बर्तन बनाकर शुरू कर दिया बिज़नेस

इस दुनियां में इंसान के लिए असंभव नाम की कोई चीज नहीं है । इंसान अगर किसी चीज की चाहत रखता है तो वह उसे पा सकता है । बशर्ते उसकी चाहत के साथ उसमें उसकी मेहनत शामिल हो जाये । किसी ने बिल्कुल ठिक कहा है- “जहां चाह वहां राह होती है।” जो इंसान किसी चीज को ठान लेता है फिर उसके लिए इस धरती पर कुछ भी असंभव नहीं होता है। वह सच्ची लगन और मेहनत से कठिन से कठिन काम को कर सकता है। आज हम एक ऐसी ही महिला के बारे में बताएंगे जिन्होंने अपने लगन और मेहनत से बेकर पड़े नारियलों के खोल से अपना बिजनेस शुरू कर लिया। आइये जानते है उनके सफलता की कहानी।

मारिया कुरियाकोस का परिचय।

केरल के त्रिशूर की रहनेवाली मारिया कुरियाकोस मुंबई में नौकरी करती थीं, लेकिन साल 2019 में उन्होंने नौकरी छोड़ दी। दरअसल, बचपन से ही उनका सपना था कि वह अपना खुद का व्यवसाय शुरू करें। उन्होंने अपने सपने को पूरा किया । उन्होंने Thenga Coconut Shell Product बनाया और यही उनका बिज़नेस बन जायेगा।

नारियल के ऊपरी हिस्से का उपयोग किया ।

Maria working on Thenga / Image/ Better India

त्रिशूर में एक नारियल तेल मिल घूमने से, उन्हें अपने व्यवसाय के लिए ज़रूरी प्रेरणा मिली। नारियल अनेक गुणों वाला फल है, जिसके हर हिस्से का उपयोग किया जा सकता है। लेकिन, मिल में उन्होंने देखा कि नारियल के शेल (नारियल के बाहर का कड़ा हिस्सा) को फेंका जा रहा था।”
Maria working on Thenga इस पर शोध करने के बाद, उन्हें समझ आया कि कुछ व्यवसाय चारकोल बनाने के लिए नारियल के बाहरी हिस्से का प्रयोग करते हैं। इसके अलावा, ईंधन के रूप में जलाए जाते भी हैं। मारिया ने काफी पहले, केरल के आसपास के कई कारीगर नारियल के खोल का इस्तेमाल खाना परोसने वाली कड़छी बनाने के लिए किया करते थे। पर आज, इन उत्पादों की कीमत और इसे बनानेवाले कारीगर दोनों ही बहुत कम हो गए हैं। इसी वजह से ‘थेंगा’ नाम के इस घरेलू ब्रांड की शुरुआत हुई, जिसने अबतक 8,000 से अधिक नारियल के खोल से बने उत्पादों की बिक्री की है।

बेकार के चीजों से अच्छी कमाई।

Maria Kuriakose & Kuriakose Varu / Image / Better India

साल 2019 में, मारिया ने नारियल-खोल आधारित उत्पादों को बेचने का फैसला कर लिया ।फिर उन्होंने इससे उपयोगी सामान बनानेवाले कारीगरों और विशेषज्ञों से बात की । उन्होंने कुछ महीने यह समझने में बिताए कि नारियल के खोल कैसे छांटे जाए और इससे अंतिम उत्पाद कैसे बनाया जाए। उनके पिता ने उनका सहयोग किया और कम लागत वाले मशीन बनाए । उनके पिता ने यु-ट्यूब का सहारा लिया और उसे डिजाइन भी कर के दिया ।

कुछ ही दिनों में मशीन हुआ तैयार।

Raw Coconut Shell in process / Image / Better India

उनके पिता ने एक हार्डवेयर स्टोर से स्पेयर पार्ट्स खरीदकर कुछ ही दिनों में नारियल के खोल के अंदर और बाहरी हिस्सों को चिकना करने के लिए आवश्यक सैंडिंग मशीनों को बना डाला ।
जब तक ये सब तैयार हो रहा था, तब तक मारिया उन लोगों से मिल रही थी, जो नारियल के खोल से बने कटोरे खरीदने के लिए तैयार थे। कुछ व्यवसायों की पहचान करने के बाद, जिनका वह नाम नहीं लेना चाहतीं, मारिया ने घर पर कुछ कटोरे बनाए। इसके साथ ही, उन्होंने तैयार प्रॉडक्ट्स पर व्यावसायिक लोगो भी छापा। मारिया की “लेजर प्रिंटिंग, एक थर्ड पार्टी कंपनी द्वारा की गई थी, जो लकड़ी के उत्पादों पर प्रिंट करती है। अंत में, वार्निश जैसे केमिकल बेस्ड प्रोडक्ट की बजाय नारियल के तेल से खोल को पॉलिश किया गया।

सफलता मिली मारिया को।

Coconut Shell Candle / Image / Better India

मारिया का बिजनेस चल पड़ा । जहाँ-जहाँ उन्होंने अपने उत्पाद की सप्लाई की थी वहां से सकारात्मक फीड बैक मिला । वह अत्यंत खुश थी । उनके उत्पाद में कही भी कोई परेशानी होती है वह उसका निराकरण तुरंत करती है।

जर्मनी में Thenga Product के लॉन्च की तैयारी ।

वह कहती है कि कटोरों को सूप या स्मूदी जैसी ठंडी चीज़ों के लिए प्रयोग किया जा सकता है। यह मोमबत्तियां नारियल के फ्लेवर वाली हैं और इसे वह खुद अपने हाथों से बनाती हैं। उन्होंने 8,000 से अधिक उत्पाद बेचे हैं और तमिलनाडु, कर्नाटक और केरल से लगातार ऑर्डर मिल रहे हैं। कुछ महीनों में ये उत्पाद जर्मनी में भी Amazon के जरिए लॉन्च किए जाएंगे।”
अगर आप थेंगा उत्पाद खरीदना चाहते हैं, तो Amazon, Instagram, या Facebook पर जा सकते हैं।

Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।
RELATED ARTICLES

1 COMMENT

  1. Loose spins are a type of incentive acclimatized via online casinos to advance their products. They’re principally aimed at encouraging bettors to register with casinos and try out the experimental games.

    Some types embrace free weave welcome bonus, no-deposit set free spins, wager-free spins, part liberal spins, etc.

    Casinos with unattached spins are appealing customary, and they are mostly fond of with at liberty spins reward codes. These codes are meant for the bettors – which are hand-me-down to signup or reflect on casinos with unstinting spins.

    india free slots

    It’s certain to have these casino untenanted bonus codes as they’ll be required in advance registration, staid despite the fact that the spins are free. You can spurn the accessible spins to compete with narrow games, and you can win bona fide money.

    Here, we’ve compiled some of the a-one online casino free spins that players can get to win authentic money.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments